- मनोरंजन

‘मी टू’ आंदोलन फिल्म जगत में सुनामी की तरह: अरबाज खान

मुंबई।अभिनेता अरबाज खान ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह ‘‘मी टू’’ आंदोलन का समर्थन करते हैं क्योंकि किसी को भी यह अधिकार नहीं है कि वह किसी दूसरे को प्रताड़ित करे। बहरहाल, अरबाज ने यह भी कहा कि बेकसूर लोगों को नहीं फंसाया जाना चाहिए। अरबाज ने कहा ‘‘किसी को भी यह अधिकार नहीं है कि वह दूसरे को प्रताड़ित करे। मैं ‘मी टू’ आंदोलन का पूरी तरह समर्थन करता हूं।

यौन उत्पीड़न के पीड़ितों को न्याय मिलना चाहिए लेकिन हमें यह भी ध्यान देना होगा कि इस आंदोलन का दुरूपयोग न हो।’’उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा ‘‘अभी इस तरह का माहौल है कि लोग किसी के भी द्वारा लगाए गए आरोपों पर फैसले ले रहे हैं। इन मुद्दों पर हमें समझदार होने की जरूरत है।’’ अरबाज ने कहा कि यह आंदोलन सुनामी की तरह है और चूंकि यह बिल्कुल नया है इसलिए लोग सुधारात्मक कदमों के बारे में किसी निष्कर्ष पर पहुंचने में समय ले रहे हैं।

उन्होंने कहा ‘‘अगर आरोपी मानता है कि उसने गलत किया, वह उसके लिए माफी मांगता है, उसे पछतावा होता है तो …. मुझे पता नहीं कि हम इन चीजों को कैसे सुलझाएंगे। अभी जो माहौल है वह सुनामी की तरह है। कोई भी नहीं जानता कि निर्णय कैसे किया जाए और फिर क्या होगा।’’ अरबाज ने कहा ‘‘हमें समझदार लोगों की बात सुननी होगी। मुझे उम्मीद है कि अदालत इन मामलों के संबंध में नए कानून लाएगी। इस आंदोलन से कुछ सकारात्मक बदलाव होने की उम्मीद है।’’अरबाज की नयी फिल्म ‘‘जैक एंड जिल’’ दो नवंबर को रिलीज होगी।

About buland khabar

Read All Posts By buland khabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *