ग्रामीण हाट-बाजारों में लगाये जायेंगे कैरियर मार्गदर्शन शिविर: कलेक्टर

छत्तीसगढ़

कोण्डागांव, (bulandkhabar)। जिला कार्यालय के सभा कक्ष में समय-सीमा बैठक कलेक्टर नीलकंठ टीकाम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने ‘‘पुनांग हर्री त पंडुम‘‘ बाइक रैली 2020 के सफल आयोजन किये जाने के लिए सभी अधिकारियों-कर्मचारियों, जनप्रतिनिधियों, मीडिया प्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों को इस रैली में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेकर इन नक्सल प्रभावित आदिवासी क्षेत्रों में लोगो के मन मे विश्वास जगाने के लिए आभार व्यक्त किया एवं पूरे रास्तों में आम ग्रामीणों, नर्तक दलों, शिक्षकों, स्कूली बच्चों, गांवों के जनप्रतिनिधियों, इन क्षत्रों के कर्मचारियों से मिले सहयोग, विश्वास और समर्पण के लिए कृतज्ञता भी व्यक्त की साथ ही सभी अधिकारियों से अपील किया कि वे ग्रामीणों से मिले स्नेह को याद रखते हुए शांति, विकास, सुरक्षा और सहभगिता को सुनिश्चित करें एवं दृढ़ संकल्पित होकर इनके विश्वास को बनाये रखें और इन्हें किसी भी प्रकार के छलावे, बैमानी या धोखाधड़ी से बचाने का प्रयत्न करें। इस दौरान इस मार्ग पर अधूरे निर्माण की भी समीक्षा की गई तथा जल्द से जल्द पूर्ण इसे पूर्ण किये जाने के निर्देश भी दिए।
इस बैठक में आगामी 29 फरवरी से 2 मार्च तक जिला प्रषासन द्वारा आयोजित की जाने वाली रात्रिकालीन ओपन बैडमिंटन प्रतियोगिता के संबंध में खिलाड़ियों के विश्राम हेतु व्यवस्था पंचायत विभाग द्वारा किए जाने तथा नगरपालिका को छत्तीसगढ़ के सबसे अधिक सुविधाओ से युक्त नवनिर्मित इंडोर स्टेडियम में प्रतियोगिता हेतु सभी आवष्यक व्यवस्था किए जाने के निर्देष भी दिए। विदित हो कि इस प्रतियोगिता में रजिस्ट्रेषन की अंतिम तिथि 28 फरवरी निर्धारित की गई है। इस अवसर पर कलेक्टर द्वारा जिला रोजगार अधिकारी एवं कौषल विकास से संबंधित विभागो को जिले के बड़े हाट-बाजारो जैसे अमरावती, चिपावण्ड, माकड़ी, बड़ेराजपुर, गम्हरी, धनोरा, खालेमुरवेण्ड, हीरापुर, बिंझे, बयानार, मर्दापाल आदि में बाजार स्थलो के समीप षिविर लगाकर बेरोजगार ग्रामीणों के लिए कैरियर मार्गदर्षन की व्यवस्था किए जाने साथ ही इन षिविरो के लिए जागरुकता अभियान हेतु सभी ग्रामीण राजस्व अधिकारियों को डौंडी पिटवाकर, कोटवारो द्वारा मुनादी कराकर सभी को सूचित करने को कहा। इस दौरान उन्होंने सड़को पर अवैध ठेलो, कब्जो के निपटारे, धान खरीदी में टोकन ले चुके किसानो की पहचान, लघु वनोपजो की खरीदी, किसान सम्मान निधि प्राप्तकर्ताओं को किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराने के साथ-साथ सुराजी ग्राम योजना पर विस्तृत चर्चा की गयी। आगामी ग्रीष्म ऋतु को देखते हुए प्रत्येक विकासखण्ड में विभिन्न रणनीतियों द्वारा पेयजल निस्तारी और पशुओं के लिए जल की व्यवस्था सुनिष्चित किए जाने के निर्देष भी संबंधित अधिकारियों को दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *