गर्मियों में ऐसे करे अपने बालो की देखभाल!

ब्यूटी टिप्स

शहनाज हुसैन
हफ्ते में कितनी बार शैम्पू करना चाहिए इस बारे में कोई साफ नियम नहीं है लेकिन महिलाओं के लिए यह एक मुश्किल और जरूरी सवाल है क्योंकि पुरुषों की बजाय महिलाओं के बाल घने और लम्बे होते हैं जिसकी बजह से महिलाओं को हर रोज शैम्पू करना और सुखाना झंझट भरा काम हो सकता है । आम अवधारणा है की बालों में शैम्पू करने से बाल सूखे और निर्जीव हो जाते हैं जिससे बालों को नुकसान होता है जो कि पूरी तरह सही नहीं है। बालों को शैम्पू करना ब्यक्तिगत पसन्द पर निर्भर करता है लेकिन शैम्पू में कई तरह के केमिकल पाए जाते हैं और शैम्पू में झाग लाने के लिए सोडियम लॉरिल सल्फेट मिलाया जाता है जिससे त्वचा में जलन हो सकती है /बालों को हर रोज शैम्पू करने से बालों की सेहत खराब होती है क्योंकि हर रोज बालों को शैम्पू करने से बाल ड्राई हो जाते हैं जिससे बालों के टूटने का खतरा बढ़ जाता है। बालों में हफ्ते में तीन दिन शैम्पू करना बेहतर माना जाता है लेकिन अगर आपके बालों में हफ्ते में एक दिन शैम्पू करने से बाल बेहतर रहते हैं तो यह अति उत्तम होगा।
बालों में शैम्पू करने की जरूरत बालों के प्रकार पर निर्भर करती है। अगर आप के बाल समान्य या शुष्क हैं तो हफ्ते में एक बार शैम्पू करना उपयुक्त होगा लेकिन अगर आपके बाल रूखे /लहरदार / कर्ली हैं तो हफ्ते में दो बार शैम्पू करना उपयोगी होगा । लेकिन उमस भरे मौसम में आपका चाहे जो भी हेयर टाइप हो इसे तीन बार धोएं। ऐसे मौसम में पसीने की वजह से धूल, गंदगी आपकी खोपड़ी में चिपक कर बालों को काफी गंदा कर देते हैं।
इसके अलावा जब भी आप अपने बालों में शैम्पू करें कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखें। आपका हेयर टाइप ऑयली हो या ड्राई, आपके बालों की देखभाल का दावा करने वाले कई शैम्पू बाज़ार में मिल जायेंगे। लेकिन इनके नियमित उपयोग से आपके बालों के नैचूरल आयल को नुकसान पहुंच सकता है । इससे आपके स्कैल्प का एसिड और ऐल्कालाइन सन्तुलन बिगड़ता है और नतीजे के तौर पर बाल टूट जाते हैं ।
ऑइली हेयर के लिए आप हिना और रूखे-सूखे बालों के लिए आंवला वाले शैम्पू चुनें। ऑयली बालों के लिए हमेशा हल्के शैम्पू का उपयोग करें ताकि इसके बार बार उपयोग से बालों को कम से कम नुकसान हो।
शैम्पू करने के बाद के बाद पूरे बालों को तौलिए में अच्छी तरह लपेटें। इससे बालों में जमा पानी तौलिया सोख लेगा। बालों को सुखाने के लिए इन्हें रगडऩे की गलती कतई करें।
जब बाल ड्राई हो जाए या बिल्कुल हल्के गीले रहेंगे तो इन्हे सुलझाने के लिए चैड़े -दांतों वाली कंघी से अच्छी तरह सुलझाएं । इन्हें सुलझाने के लिए पतले दांतों वाली कंघी का प्रयोग कभी भी ना करें। इससे ये टूटकर झडऩे लगते है। बालों को फिक्स रखने के लिए उपयोग किये जाने बाले स्प्रे और बालों को खींचकर जमाये रखने बाले क्लीप्पेर बालों को कमजोर कर देते हैं ।
बालों में शैम्पू करने से एक या दो घण्टा पहले बालों की अच्छी तरह तेल मालिश करें जिससे बालों को पोषण मिलेगा और बाल मजबूत होंगे।
बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल ना करें। साथ ही अगर इसे प्रयोग करना हो तो हमेशा 10 इंच की दूरी पर रखें। बालों को प्रकृतिक तरीके से हवा में ही सुखने दें तो बेहतर होगा ।
बालों को स्टाइलिश दिखाने के लिए जैल का प्रयोग न करें क्योंकि यह लम्बे समय तक बालों को नुकसान देगा।
बालों को केमिकल भरे शैम्पू से निजात दिलाने के लिए बेसन का आर्गेनिक शैम्पू लाभदायक हो सकता है। आर्गेनिक बेसन को पानी में घोलकर बने मिश्रण को सिर के बालों तथा शरीर के अन्य भाग की त्वचा पर लगाने से बालों की गंदगी दूर हो जाती है और बल घने , मुलायम , चमकदार हो जाते हैं इस क्रिया से सिर की खाज और फुंसियाँ भी ठीक हो जाती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *