संस्कृति मंत्री भगत राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का न्यौता देने सिक्किम और असम जाएंगे

छत्तीसगढ़
रायपुर, 04 दिसम्बर 2019/मुख्यमंत्री बघेल ने राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के लिए देश के अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं संस्कृति मंत्रियों को छत्तीसगढ़ आने का न्यौता देने प्रदेश के मंत्रियों जिम्मेदारी सौपे हैं।
संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत छत्तीसगढ़ में आगामी 27 दिसम्बर से शुरू होने वाले नेशनल ट्रायबल युथ फेस्टिवल का न्यौता देने असम और सिक्किम जाएंगे।
 भगत 9 दिसम्बर को सिक्किम के गंगटोक में वहां के मुख्यमंत्री एवं संस्कृति मंत्री से मुलाकात कर निमंत्रण देंगे और 11 दिसम्बर को असम राज्य के गुवाहाटी में वहां के मुख्यमंत्री और संस्कृति मंत्री से सौजन्य मुलाकात करेंगे और उन्हें इस महोत्सव के लिए न्यौता देंगे। साथ ही वहां के आदिवासी नृतक दलों को महोत्सव में भेजने के लिए आग्रह करेंगे।
निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार भगत 5 दिसम्बर को स्वामी विवेकानंद विमानतल माना से सवेरे 7.45 बजे एयर इंडिया के नियमित विमान द्वारा रवाना होकर जयपुर पहंुचेंगे। जहां वे विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे। भगत 6 दिसम्बर को रात्रि 9.45 बजे विमान द्वारा जयपुर से मुंबई जाएंगे। वे 9 दिसम्बर को सिक्किम के गंगटोक पहंुचेंगे और वहां के मुख्यमंत्री और संस्कृति मंत्री से मुलाकात करेंगे।  भगत 11 दिसम्बर को असम के गुवाहाटी पहंुचेंगे और वहां के मुख्यमंत्री और संस्कृति मंत्री से मुलाकात करेंगे। श्री भगत 13 दिसम्बर को गुवाहाटी से दिल्ली आएंगे और 14 दिसम्बर को सवेरे 6 बजे दिल्ली से रायपुर के लिए रवाना हो जाएंगे।
ज्ञातव्य है कि छत्तीसगढ़ में पहली बार राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन हो रहा है। आगामी 27, 28 और 29 दिसम्बर को नेशलन ट्राइवल डांस प्रतियोगिता का आयोजन राजधानी रायपुर में होना प्रस्तावित है। राजधानी के नृत्य महोत्सव स्थल पर राज्य शासन की योजनाओं पर आधारित विकास प्रदर्शनी, हाथकरघा वस्त्रों, और कृषि आधारित विभिन्न उत्पादों को भी प्रदर्शित किया जाएगा। इस नृत्य महोत्सव में छत्तीसगढ़ सहित देशभर के विभिन्न राज्यों के लगभग 2500 लोक कलाकार भाग लेंगे। इनके अलावा देशभर के कलाप्रेमी भी कार्यक्रम देखने छत्तीसगढ़ आएंगे। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव की प्रतियोगिता में चार विषयों पर आधारित कार्यक्रम होंगे। पहला विवाह या मांगलिक अवसर पर होने वाले नृत्य, दूसरा कृषि आधारित जैसे फसल कटने के समय आयोजित होने वाले नृत्य, तीसरा देश के विभिन्न राज्यों में त्यौहारों, विशेष अवसरों पर होने वाले नृत्य और चौथे विषय को खुली प्रतियोगिता के रूप में रखा गया है। नृत्य महोत्सव में एक प्रदेश से चार ग्रुप शामिल होंगे। एक गु्रप में 15 कलाकार हो सकते है। छत्तीसगढ़ में आयोजन की तैयारियों के लिए विकासखण्ड स्तर पर नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन 15 नवम्बर तक किया गया। विकासखण्ड स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कलाकारों का 16 से 30 नवम्बर तक जिला स्तर पर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया और एक से 10 अक्टूबर तक संभाग स्तर पर प्रतियोगिता का आयोजन होगा और इस प्रतियोगिता में जो टीम सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे। उन्हें राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में प्रदर्शन के लिए चयनित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *