शराबबंदी का वादा कर सत्ता में आई सरकार अब शराब को घर-घर पहुचाने का फैसला शर्मनाक : कौशिक.

राज्य

रायपुर। (bulandkhabar) छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश सरकार द्वारा लॉकडाउन की अवधि में शराब दुकानें खोलने में दिखाई जा रही आतुरता पर पीड़ा व्यक्त की है। नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि शराब दुकानें खुलवाने के पूर्व लॉकडाउन के मद्देनज़र प्रदेश सरकार की कोई सुरक्षात्मक तैयारी नज़र नहीं आ रही है। अलबत्ता, प्रदेश सरकार के तत्संबंधी आदेश में डिलीवरी ब्वॉय के माध्यम से शराब प्रदान करने की बात कही गई है। यानि अब सरकार शराब की घर पहुँच सेवा शुरू करेगी। श्री कौशिक ने जानना चाहा है कि डिलीवरी ब्वॉय नियुक्त कर प्रदेश सरकार क्या ‘लाइसेंसधारी शराब कोचिए’ नियुक्त करने जा रही है? ऐसा करके प्रदेश सरकार शराब के अवैध कारोबार को कानूनी कवच पहनाने का काम कर रही है।

नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि सीएम भुपेश बघेल को याद करना चाहिए कि विपक्ष में रहने के दौरान शराबबंदी की कैसी बातें करते थे। कांग्रेस अध्यक्ष रहते बघेल के सारे ट्वीट राजनीतिक धोखाधड़ी के एक काले अध्याय के रूप में दर्ज हैं। इसी कांग्रेस ने गंगाजल हाथ में लेकर पूर्ण शराबबंदी का वादा किया था। अब उसे बंद करने की कौन कहे, उलटे घर-घर तक इसका प्रसार कर कांग्रेस वास्तव में छत्तीसगढ़ के भविष्य को नष्ट करने की साज़िश रच रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी आपदा इस मामले में हमारे लिए एक अवसर लेकर आया था कि शराब के आदी लोगों को भी लम्बे समय तक इसके बिना रहना पड़ा था। इसके कारण इनके मन में एक आत्मविश्वास और उम्मीद जगी थी कि अब वे व्यसन मुक्त जीवन जी सकेंगे लेकिन, राजस्व और शायद अवैध कारोबार को बढ़ावा देने की लिप्सा में सरकार ने यह सुनहरा मौक़ा गँवा दिया है। घर-घर में आई शान्ति और समृद्धि को ठोकर मारने का काम सरकार ने किया है। श्री कौशिक ने कहा कि अब भी कुछ नहीं बिगड़ा है, सरकार अपना यह आदेश वापस ले और प्रदेश की माताओं-बहनों को सुकून से जीने देने की राह बनाए। उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं करने पर इतिहास कभी भी श्री बघेल को माफ़ नहीं करेगा।

श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश सरकार के इस फैसले से कोरोना संक्रमण के फैलाव की आशंका घनीभूत होगी, क्योंकि जब आम दिनों में ही शराब की दुकानों पर मारामारी होती है तो लॉकडाउन के मौजूदा दौर में इन ठिकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो पाएगा, इसमें संदेह की काफी गुंजाइश है। श्री कौशिक ने कहा कि एक तो प्रदेश में गली-गली शराब कोचियों, तस्करों और अवैध रूप से शराब बनाने वालों की बाढ़ आई हुई है, लॉकडाउन अवधि में भी शराब की तस्करी के मामले सामने आए हैं; उस पर प्रदेश सरकार प्लेसमेंट एजेंसी से डिलीवरी ब्वॉय नियुक्त कर लाइसेंसधारी कोचियों की फौज खड़ी करके शराबबंदी के अपने वादे से मुँह चुरा रही है। श्री कौशिक ने कहा कि एक तो प्रदेश में गली-गली शराब कोचियों, तस्करों और अवैध रूप से शराब बनाने वालों की बाढ़ आई हुई है, लॉकडाउन की अवधि में भी शराब की तस्करी के मामले सामने आए हैं; उस पर प्रदेश सरकार प्लेसमेंट एजेंसी से डिलीवरी ब्वॉय नियुक्त कर लाइसेंसधारी कोचियों की फौज खड़ी करके शराबबंदी के अपने वादे से मुँह चुरा रही है। नेता प्रतिपक्ष ने कम से कम शराब की घर पहुँच सेवा के निर्णय को तुरंत प्रभाव से रोकने की मांग की है।
——————–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *