प्रदेश की कांग्रेस सरकार किसान विरोधी-बृजमोहन

छत्तीसगढ़

रायपुर/06/12/2019/ पूर्व कृषि मंत्री एवं रायपुर दक्षिण विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली प्रदेश की कांग्रेस सरकार को किसान विरोधी करार दिया है। भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में आयोजित पत्रकार वार्ता में बृजमोहन ने कहा कि सरकार की धान खरीदी नीति से प्रदेश का किसान हलकान – परेशान है। एक ओर सरकार 1 महीने लेट से धान खरीद रही है ऊपर से सोसाइटियों में बारदाना नहीं होने की भी शिकायते मिल रही है। साथ ही कहा कि कंप्यूटराइज व्यवस्था में कई किसानों की एंट्री नहीं हो पाई है। जिसकी वजह से भी उन्हें सोसाइटी उसे वापस लौटना पड़ रहा है। धान खरीदी में सरकार गंभीर नही दिखती किसानों की समस्याओं को नजरअंदाज कर रही है। कांग्रेस सरकार के चक्कर में किसान ऐसे फंसे हैं कि उन्हें अब खुले बाजार या साहूकारों के पास औने-पौने कीमत में धान बेचना पड़ रहा है। जिन किसानों के धाम सोसाइटी में बिक भी रहे हैं 7-7 दिन तक उनके खातों में पैसे नहीं पहुंच रहे है, जिसके चलते भी किसान कर्ज लेकर अपने बेटे-बेटियों की शादी जैसे मांगलिक कार्य सम्पन्न कर पा रहे है।
बृजमोहन ने भूपेश बघेल द्वारा 2016 में किये गए ट्वीट का हवाला देते हुए कहा कि 1 नवंबर से धान खरीदी करने की चिट्ठी वे तात्कालिक मुख्यमंत्री रमन सिंह को लिखी थी। परंतु खुद मुख्यमंत्री बने तो यह बात वे भूल गए। सत्ता में आने के लिए कांग्रेस किसानों से 25 सौ रुपये क्विंटल में धान खरीदने का वादा किया था पर अब 1835 और 1815 रुपये दे रहे है। जबकि किसानों ने 25सौ के हिसाब से अपनी कार्ययोजना बना रखी थी।
धान खरीदी के सिस्टम पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में किसानों से 5 बार धान खरीदा जाता था। अब सिर्फ 3 बार और 1 बार मे 80 क्विंटल धान खरीदा जाएगा,यानी सरकार अब सिर्फ 240 क्विंटल धान ही किसान से खरीदी करेगी।
जबकि पहले ऐसा किसी तरह का प्रतिबंध नही था।
बृजमोहन ने कहा कि पटवारियों को निर्देश दिया गया था कि धान का 50-100 हैक्टेयर रकबा काम करें। बाकायदा यह संदेश व्हाट्स एप पर चलता रहा। हमने विधानासभा में भी यह सवाल उठाया था।
उन्होंने कहा कि इस बार एक करोड़ टन धान खरीदी होनी चाहिए क्योंकि कांग्रेस द्वारा 25सौ रुपये में धान खरीदी की घोषणा के बाद किसानों ने धान ही बोया है। वैसे सरकार ने 85 लाख टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा है परंतु सरकार की रंगत देंखने से लगता है कि वे 65 लाख टन धान खरीदेंगे। परंतु भाजपा इस कांग्रेस सरकार पर किसानों का एक-एक दाना धान खरीदने का दबाव बनाएगी।
बृजमोहन ने कहा की शून्य प्रतिशत ब्याज पर किसानों को ऋण देने की शुरुआत भाजपा की थी।कांग्रेस की सरकार को एक साल हो गए इस एक साल में 10 हज़ार पम्प कनेक्शन तक नही दिये गए।
आज लाखों किसान है जो 20 साल से कर्जा नही पटा पाए है। पर उनका माफ नही हुआ है और प्रदेश की कांग्रेस सरकार कर्जा माफी का ढोल पीटते नही थक रही है।
बृजमोहन ने कहा कि सरकार को चाहिए कि किसानों से इस वर्ष के कर्ज की वसूली नही की जानी चाहिए
क्योंकि यह कर्ज 31 मार्च तक ब्याज मुक्त है।
एक साल में प्रदेश की कांग्रेस सरकार असफल और किसानों का शोषण करने वाली साबित हो गई है। इनकी कथनी और करनी अलग है इसीलिए प्रदेश की जनता जिसने इन्हें प्रचंड मतों से विधानासभा भेजा था उसी जनता ने लोकसभा में उन्हें करारी शिकस्त देते हुए पुनः भाजपा पर विश्वास जताया है। नगरीय निकाय चुनाव में भी जनता का भरोसा निश्चित ही भाजपा के साथ होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *