सुप्रीम कोर्ट में इस बार ग्रीष्मावकाश नहीं, वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई

देश

(buland khabar)देशभर में कोरोना संकट के बीच उच्चतम न्यायालय यानी सुप्रीम कोर्ट ने भी स्पष्ट संकेत दे दिए हैं कि 18 मई से होने वाला डेढ़ माह का ग्रीष्मावकाश इस बार नहीं होगा। बताया जा रहा है कि सोमवार से पांच नियमित बेंच बैंठना शुरू हो जाएगी। सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए ये बेंच वीडियो कॉन्फे्रंस तकनीक के जरिए सुनवाई करेंगी।
आपको बता दें कि कोरोना महामारी लॉकडाउन के चलते उच्चतम न्यायालय पिछले 22 मार्च से अर्जेंट मामलों की वीडियो कॉन्फे्रंस तकनीक के जरिए सुनवाई कर रहा है। इस दौरान दो या तीन बेंचें बैठ रही थीं और उनमें पांच से दस मामले की ही सुनवाई हो रही थी। इस कारण कोर्ट में मुकदमे ज्यादा लंबित हो गए हैं, इसी को दूर करने के लिए छुट्टियों में पांच बेंच लगाने का फैसला किया गया है। कोर्ट कार्य समिति के अध्यक्ष ने कहा है कि सोमवार से पांच बेंच कोर्ट रूम में बैठेंगी और वकील अपने चैंबर से उनमें पेश हो सकेंगे। वहीं समिति ने अपनी रिपोर्ट मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे को दे दी है। इसमें सुझाव दिया गया है कि छह हफ्तों की गर्मियों की छुट्टी को पूरी तरह से समाप्त किया जाए या इसे दो हफ्तों तक सीमित कर दिया जाए। इसमें यह भी कहा गया है कि छुट्टियों को किसी और माह में शिफ्ट भी किया जा सकता है। वकीलों को चैंबर से वीडियो कांफ्रेंसिंग करने के लिए चैंबरों को खोला जाएगा जो पिछले डेढ़ माह से लॉकडाउन के चलते बंद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *