कोरोना काल में भी भ्रष्टाचार कर लोगों के जीवन के साथ गंदा खिलवाड़ किया जा रहा : भाजपा

राज्य
रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवम पूर्व सभापति नगरनिगम संजय श्रीवास्तव ने राजधानी की सड़कों को सेनिटाइज करने के लिए खरीदे गए चूने के सैम्पल के जाँच में अमानक पाए जाने पर निगम महापौर एजाज ढेबर और निगम प्रशासन पर जमकर निशाना साधा है। श्श्रीवास्तव ने कहा कि कोरोना काल में भी कांग्रेस के लोग भ्रष्टाचार पर आमादा होकर लोगों के जीवन के साथ गंदा खिलवाड़ कर रहे हैं।
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सेनिटाइजेशन के लिए आए चूने की इन बोरियों में अधिकांश में चूने की जगह मिट्टी भेज दी गई है। जब आधे से ज्यादा छिड़काव हो चुका तब इन बोरियों की जाँच के बाद इस भ्रष्टाचार की भाण्डा फूटा। कोरोना के इस संकटकाल में भी राजधानी के नगर निगम में भ्रष्टाचार का यह खेल होना जनजीवन के साथ क्रूर खिलवाड़ है।  श्रीवास्तव ने इस बात पर हैरत जताई कि अब तक इस खरीदी के लिए जिम्मेदार और चूना आपूर्ति करने वाली एजेंसी के खिलाफ कोई कारगर कार्रवाई नहीं की गई है, सिर्फ चूने की बोरियाँ ही लौटाकर निगम प्रशासन इस पूरे मामले की लीपापोती में जुटा हुआ है।  श्रीवास्व ने कटाक्ष कर पूछा कि दोषियों पर कार्रवाई न कर महापौर और निगम प्रशासन के लोग कौन-सी रिश्तेदारी निभा रहे हैं?
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता एवम पूर्व सभापति  रायपुर नगर निगम  श्रीवास्तव ने आरोप लगाया कि निगम आयुक्त द्वारा कराई गई जाँच के बाद दोशियों को बचाने की जिस तरह कवायद की गई और उनके खिलाफ कोई रिपोर्ट नहीं बनाई गई, उससे कांग्रेस के भ्रष्टाचार-प्रेम की कलई खुल गई है। खरीदी के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर न तो कोई कार्रवाई की जा रही है, और न ही उन्हें कोई नोटिस दी जा रही है। आखिर चूना की आपूर्ति करने वाली एजेंसी पर भी कार्रवाई नहीं की गई है।  श्रीवास्तव ने सवाल किया कि क्या यह सब महापौर की जानकारी में हुआ है? आखिर चूना भेजने वाली एजेंसी किसकी चहेती एजेंसी है, राजधानी की जनता को यह जानने का अधिकार है। एक तरफ महापौर स्वच्छता रैंक में जगह नहीं मिलने का मलाल जता रहे हैं जबकि दूसरी तरफ उनकी ही नाक के नीचे भ्रष्टाचार की यह गंदगी फैल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *