श्री दूधाधारी मठ एवं इनसे संबंधित सभी मठ मंदिरों में श्री राम जन्मभूमि शिलान्यास महोत्सव मनाया गया

छत्तीसगढ़

रायपुर | श्री अयोध्या धाम में राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण की शिलान्यास पूजन का महोत्सव छत्तीसगढ़ राज्य के सभी मठ मंदिरों में हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया यहां हरि नाम संकीर्तन एवं भजन पूजन का कार्यक्रम पूरे दिन भर निर्बाध रूप से संचालित होता रहा विदित हो कि आज दिनांक 5 अगस्त सन 2020 को श्री अयोध्या धाम में देश के प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के द्वारा श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का भूमि पूजन संपन्न हुआ इसकी खुशियां पूरे देश भर में मनाई गई इसी तारतम्य में छत्तीसगढ़ राज्य की रायपुर स्थित श्री दूधाधारी मठ एवं इससे संबंधित  जैतू साव मठ,  शिवरीनारायण मठ, तथा  राजीव लोचन मठ सहित सभी मठ मंदिरों में श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण शिलान्यास महोत्सव बड़े धूमधाम से श्रद्धा -भक्ति पूर्वक मनाया गया। इस सिलसिले में सभी मठ मंदिरों में भगवान को आकर्षक रूप से अलंकृत किया गया उनकी विधिवत् आरती, पूजा-अर्चना, स्तुति गान करके भगवान की सेवा संत महात्माओं के द्वारा की गई इस संदर्भ में श्री दूधाधारी मठ पीठाधीश्वर एवं राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री डॉक्टर महन्त रामसुन्दर दास जी महाराज ने प्रेस को बताया कि श्री अयोध्या धाम में राम जन्म भूमि में मंदिर निर्माण के लिए हमारे पूर्वजों ने वर्षों तक संघर्ष किया है हम सब सनातन धर्मावलंबी इस दिन की प्रतीक्षा वर्षों से कर रहे थे आज हम सब की तपस्या पूरी हुई है भगवान राघवेंद्र सरकार जो कि संपूर्ण संसार को रहने के लिए छत प्रदान करते हैं उनके लिए अब जाकर भव्य मंदिर निर्माण के शुभारंभ का शिलान्यास हुआ है। उन्होंने कहा कि आज श्री दूधाधारी मठ मंदिर में भगवान राघवेंद्र सरकार का स्वर्ण अलंकार किया गया यह अलंकार विशेषकर भगवान को वर्ष में केवल रामनवमी एवं जन्माष्टमी के अवसर पर ही किया जाता है श्री दूधाधारी मठ की स्थापना के पश्चात प्रथम बार आज हमने अपनी परंपरा से ऊपर उठकर श्री राम मंदिर निर्माण की खुशियां मनाने के लिए भगवान का स्वर्ण सिंगार किया है पूरे दिन भर मठ मंदिर परिसर में संत महात्माओं के द्वारा श्री हरि नाम संकीर्तन अनवरत संचालित होता रहा, उन्होंने कहा कि इसी तरह का उत्सव  जैतू साव मठ मंदिर, श्री शिवरीनारायण मठ मंदिर, श्री राजीव लोचन मठ मंदिर सहित राज्य के सभी सनातन धर्मावलंबियों के द्वारा संचालित मठ मंदिरों में हर्षोल्लास पूर्वक संपन्न हुआ। हम परमात्मा से यह प्रार्थना करते हैं कि श्री अयोध्या जी में भगवान के भव्य मंदिर का निर्माण यथाशीघ्र संपन्न हो इस दिन की प्रतीक्षा हम सबको रहेगी, श्री रामचंद्र जी के प्रत्येक कार्यों को पूर्ण करने की जिम्मेदारी श्री हनुमान जी महाराज पर रहती है श्री हनुमंत लाल जी की कृपा से मंदिर निर्माण का कार्य निर्विघ्न रुप से संपन्न होगा क्योंकि हनुमान जी संसार के समस्त संकटों का नाश करने वाले हैं उनके संदर्भ में हनुमान चालीसा में श्री गोस्वामी तुलसीदास जी महाराज ने लिखा है कि- पवन तनय संकट हरण, मंगल मूरति रुप। राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप।। भगवान श्री रामचंद्र जी चराचर जगत के स्वामी हैं उनकी कृपा से संपूर्ण ब्रह्मांड संचालित होता है उनके लिए विश्व स्तरीय सर्वोत्कृष्ट मंदिर निर्माण से हम सभी को बेहद प्रसन्नता हुई है। यहां यह उल्लेखनीय है कि इन मठ मंदिरों में संचालित गौशालाओं में गौ माताओं की भी इस अवसर पर विशेष पूजा अर्चना की गई, संत महात्माओं की पंगत लगाकर उन्हें भगवान जगन्नाथ जी का भोग प्रसाद प्रदान किया गया। संध्या के समय हजारों की संख्या में दीप मालिकाओं से मठ मंदिरों को सजाया गया,लोगों ने एक दूसरे को बधाई देकर अपनी प्रसन्नता व्यक्त की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *