छत्तीसगढ़ कंपनी के बिजली घरो का शानदार प्रदर्शन , देश भर के बिजली घरों को पछाड़ा

छत्तीसगढ़
रायपुर । छत्तीसगढ़ स्टेट पावर जनरेशन कंपनी के विद्युत गृहों ने देशभर के 33 पावर सेक्टर के ताप विद्युत गृह को पछाड़ते हुए एक बार फिर सर्वाधिक प्लांट लोड फैक्टर (पी.एल.एफ) 70.59 प्रतिशत अर्जित कर सर्वोच्च स्थान पर होने का गौरव प्राप्त किया है । भारत सरकार के अधीन कार्यरत केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (सीईए) की माह अगस्त 20 के रिपोर्ट अनुसार छत्तीसगढ़ पावर जनरेशन कंपनी के विद्युत गृह प्रथम, तेलंगाना स्टेट द्वितीय तथा झारखंड तृतीय स्थान पर रहा। कोविड-19 के संक्रमण काल में लगातार विद्युत ग्रहों की ऐसी राष्ट्रीय स्तर की उपलब्धि के लिए माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विद्युत कर्मियों को बधाई दी। उन्होंने पावर कंपनीज के चेयरमैन सुब्रत साहूऔर उत्पादन कंपनी के एमडी एनके बिजोरा सहित उनकी टीम को ऐसे अभूतपूर्व कीर्तिमानो बनाए रखने के प्रेरित किया। ऐसी गौरवशाली परंपरा को बनाए रखने का आवाहन करते हुए चेयरमैन सुब्रत साहू ने इस बात पर गर्व व्यक्त किया कि छत्तीसगढ़ से भी अधिक उन्नत राज्य के विद्युत गृह छत्तीसगढ़ से पीछे चल रहे हैं। कोरोना संक्रमण काल में जहां देशभर के विद्युत ग्रहों के उत्पादन में गिरावट दर्ज हो रही है वही माह जुलाई 69.83 प्रतिशत तथा अगस्त में उससे आगे बढ़ते 70.59 प्रतिशत पीएलएफ दर्ज करके प्रदेश को विद्युत उत्पादन के मामले में अग्रणी बनाए रखा है । विदित हो किसी.ई.ए. की रिपोर्ट के मुताबिक देश भर विद्युत गृहों का पी.एल.एफ का तुलनात्मक विश्लेषण किया गया, जिसमें छत्तीसगढ़ कंपनी के ताप विद्युत गृहों का प्लांट लोड फैक्टर सर्वाधिक 70.59 प्रतिशत रहा । दूसरे स्थान पर तेलंगाना स्टेट पावर जनरेशन कम्पनी 67.82प्रतिशत और तीसरे स्थान पर तेनूघाट विद्युत निगम लिमिटेड झारखंड के विद्युत गृहों ने 62.23 प्रतिशत पी.एल.एफ. दर्ज किया। उल्लेखनीय है कि देश भर के ताप विद्युत गृहों का औसत पी.एल.एफ 48.46 प्रतिशत रहा, जबकि छत्तीसगढ़ जनरेशन कंपनी के विद्युत गृहों के प्लांट का प्रतिशत 70.59प्रतिशत दर्ज हुआ ,जो कि राष्ट्रीय औसत पीएलएफ से कहीं अधिक है है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *