कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक करीब 10 हजार परिवारों को मिलेगा शहरी आबादी पट्टा

छत्तीसगढ़

रायपुर, 14 नवम्बर 2019/ कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन ने आज शाम कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर रायपुर सहित नगरीय निकायों के शहरी आबादी पट्टा वितरण का कार्य एक सप्ताह में कराने के निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि रायपुर जिले में करीब 10 हजार परिवारों को शहरी आबादी पट्टा मिलेगा।

कलेक्टर ने इसी तरह वर्ष 1984 के नजूल पट्टाधारियों के पट्टे का नवीनीकरण भी तत्काल कराने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि राज्य शासन द्वारा नजूल पट्टाधारियों के भूमि को फ्री होल्ड करने की योजना भी प्रारंभ की गई है और इसके लिए अभियान चलाया जा रहा है। ऐसे पट्टाधारी अपनी जमीन को फ्री होल्ड कराकर जमीन का मालिकाना हक ले सकते है। इससे वे इस जमीन के बदले बैंक से लोन ले सकेगें, जमीन का हस्तांतरण तथा खरीदी-बिक्री भी कर सकेगंे, साथ ही 30 सालों में होने वाले नवीनीकरण की प्रक्रिया से भी उन्हें छुटकारा मिलेगा। इसके लिए सरकारी गाईड लाइन दर की 2 प्रतिशत प्रीमियम राशि अदा करनी होगी।

कलेक्टर ने यह भी बताया कि 7500 वर्गफीट से कम आकार वाली अतिक्रमण वाली शासकीय भूमि का नियमितिकरण भी किया जा रहा है। उन्होंने ऐसे अतिक्रमणकारियों को इस भूमि के नियमितीकरण के लिए नोटिस देने के निर्देश दिए, जिससे वे राज्य शासन की इस योजना का लाभ उठा सकें और अपने भूमि का मालिकाना हक प्राप्त कर सकें। इसके लिए उन्हें सरकारी गाईड लाईन का 150 प्रतिशत राशि देनी होगी।

कलेक्टर ने इसी तरह डायवर्सन कार्य और राजस्व प्रकरणों के निराकरण में तत्परता लाने के निर्देश दिए तथा कहा कि रायपुर जिले के राजस्व अधिकारियों ने राजस्व प्रकरणों के निराकरण में अच्छा कार्य किया है। उन्होंने कहा कि 15 सालों की डायवर्सन रेंट एक मुश्त अदा करने पर 30 सालों तक डायवर्सन रेंट की राशि नहीं अदा करनी होगी।

कलेक्टर ने बताया कि रायपुर जिले में धान खरीदी के लिए गिरदावरी का कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों को गिरदावरी के रिकाॅर्ड का 10 प्रतिशत रेंडमली जांच करने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *