प्रधानमंत्री ने बिहार में 14 हजार करोड़ की राजमार्ग परियोजनाओं की रखी आधारशिला

देश
नई दिल्ली । बिहार विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को राज्य की 14,258 करोड़ रुपये की लागत से तैयार होने वाली नौ राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इसके अलावा उन्होंने बिहार के सभी 45,945 गांवों को इंटरनेट से जोड़ने के लिए ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट सेवाओं का भी उद्घाटन किया। वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इन परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन करने के बाद मोदी ने कहा आज बिहार की विकास यात्रा का एक और अहम दिन है।
उन्होंने कहा, `भारत के गांवों में इंटरनेट का उपयोग करने वालों की संख्या कभी शहरी लोगों से ज्यादा हो जाएगी, ये कुछ साल पहले तक सोचना भी मुश्किल था। गांव की महिलाएं, किसान और गांव के युवा भी इतनी आसानी से इंटरनेट का इस्तेमाल करेंगे, इस पर भी बहुत लोग सवाल उठाते थे। लेकिन अब ये सारी स्थितियां बदल चुकी हैं।` उन्होंने कहा कि आज भारत डिजिटल लेनदेन करने वाले दुनिया के सबसे अग्रणी देशों की कतार में है। उन्होंने कहा कि जब गांव- गांव में तेका इंटरनेट पहुंचेगा तो गांव में पढ़ाई आसान होगी।
उन्होंने कहा, `गांव के बच्चे, हमारे ग्रामीण युवा भी एक क्लिक पर दुनिया की किताबों तक, तकनीक तक आसानी से पहुंच पाएंगे।` इस कार्यक्रम में पटना से बिहार के राज्यपाल फागू चौहान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित कई नेता शामिल हुए। दिल्ली से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और सड़क व परिवहन राज्यमंत्री जनरल वी के सिंह के अलावा आर के सिंह, गिरिराज सिंह, नित्यानंद राय सहित कई मंत्री शामिल हुए।
आज जिन नौ राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ उनमें 350 किलोमीटर लंबी सड़कों का निर्माण किया जाना है। इन परियोजनाओं में राष्ट्रीय राजमार्ग के बख्तियारपुर- रजौली खंड, आरा- मोहनिया खंड, नरेनपुर- पूर्णिया खंड, पटना रिंग रोड (कन्हौली- रामनगर) खंड के विकास सहित पटना में गंगा नदी पर महात्मा गांधी सेतु के समानांतर राष्ट्रीय राजमार्ग -19 पर 14.5 किलोमीटर लंबे चार लेन के पुल का निर्माण, कोसी नदी पर 28.93 किलोमीटर लंबा चार लेन का नया पुल और गंगा नदी पर राष्ट्रीय राजमार्ग पर विक्रमशिला सेतु के समानांतर 4.445 किलोमीटर लंबा चार लेन का पुल बनाना शामिल है। इन परियोजनाओं पर 14,258 करोड़ रुपया की लागत आएगी।
प्रधानमंत्री ने बिहार के 45,945 गांवों को जोड़ने वाली जिन ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट सेवाओं का उद्घाटन किया उनसे राज्य के कोने- कोने तक तेज गति की इंटरनेट सुविधा पहुंचेगी। यह परियोजना दूरसंचार विभाग, सूचना एवं तकनीकी मंत्रालय और सामान्य सेवा केंद्रों (सीएससी) के संयुक्त प्रयास से क्रियान्वित होगी। प्रधानमंत्री मोदी ने वर्ष 2015 में बिहार के बुनियादी ढांचागत विकास के लिए विशेष पैकेज की घोषणा की थी। 54,700 करोड़ रुपये की लागत से 15 परियोजनाओं पर काम होना था जिनमें से 13 परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं, 38 परियोजनाओं पर काम चल रहा है जबकि अन्य आवंटन या नीलामी की प्रक्रिया में हैं। बिहार में अक्टूबर- नवम्बर में विधानसभा चुनाव होने हैं। हाल के दिनों में प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार में विकास से संबंधित कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *