प्रतिवर्ष शुक्ल पक्ष के पौष पूर्णिमा को मनाया जाता है छेरछेरा* *अन्न दान करने की परंपरा पूरे छत्तीसगढ़ में प्रचलित

धर्म

छत्तीसगढ़ राज्य की राजधानी रायपुर के हृदय स्थल पर स्थित श्री दूधाधारी मठ में भी छेरछेरा का त्यौहार हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया है इस अवसर पर छेरछेरा मांगने के लिए आने वाले प्रत्येक आगंतुकों को राजेश्री डॉक्टर महन्त रामसुन्दर दास जी महाराज पीठाधीश्वर श्री दूधाधारी मठ रायपुर ने अपने सहयोगियों सहित अन्न और द्रव्य दान करके छेरछेरा त्यौहार की प्राचीन कालीन परंपरा का निर्वाह किया। छेरछेरा के संदर्भ में राजेश्री महन्त जी महाराज ने कहा कि छेरछेरा का त्यौहार पूरे छत्तीसगढ़ राज्य मे पौष मास में शुक्ल पक्ष पूर्णिमा को मनाया जाता है, इस दिन किसान अपने परिश्रम से प्राप्त अन्न का दान करते हैं, और पुण्य के भागी बनते हैं। धर्म शास्त्रों की मान्यता के अनुसार प्रत्येक पूर्णिमा को स्नान, दान ,जप, तप, व्रत पूजन करने की सनातन परंपरा रही है इन्हीं में से पौष मास की पूर्णिमा को छत्तीसगढ़ वासी अपने कृषि कार्य के पूर्ण होने के पश्चात अपनी कृषि कार्य में उपज से प्राप्त धान -अन्न का दान करके पुण्य के भागी बनते हैं यहां यह उल्लेखनीय है कि पूरे छत्तीसगढ़ राज्य में छेरछेरा का त्यौहार अत्यंत ही श्रद्धा भक्ति पूर्वक मनाया जाता है यह लोगों में आपसी भाईचारा का त्यौहार है जिसमें लोग एक दूसरे के घरों में, दरवाजों में पहुंचकर अन्न का दान प्राप्त करते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में यह अत्यंत ही गरिमा पूर्ण रूप से संपन्न होता है लोग प्रातः काल से ही अपने हाथों में थैला, बोरा, बोरी या अन्न का पात्र लेकर एकल अथवा समूह में घर घर जाते हैं और अन्न दान प्राप्त करके खुशियां मनाते हैं। गांवों में पूरे एक माह तक लोग डंडा नृत्य भी करते हैं और अन्न दान प्राप्त करते हैं, प्रायः बच्चे इस त्यौहार की प्रतीक्षा पूरे वर्ष भर करते रहते हैं। छेरछेरा के पावन अवसर पर सोच विचार मीडिया, यादें शिकुम एवं छत्तीसगढ़ स्वाभिमान संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में गौ रक्षा के क्षेत्र में राजेश्री महन्त जी महाराज के द्वारा किए जा रहे विशेष कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें साल, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया राजेश्री महन्त जी ने इन्हें छेरछेरा प्रदान करके विदाई दी। इस अवसर पर विशेष रूप से उदय भान सिंह चौहान, कवि रामेश्वर शर्मा, इंद्रदेव यदु, राम छवि दास जी, राम तीरथ दास जी, मीडिया प्रभारी निर्मल दास वैष्णव, श्रीमती रामबाई यदु, श्रीमती ईशु लता यदु, पत्रकार कुमारी ममता सोनी सहित अनेक गणमान्य जन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *