अफगानिस्तान से लौटे रूबी, माया और बॉबी की छत्तीसगढ़ में होगी तैनाती…

देश
नई दिल्ली/रायपुर। आईटीबीपी कमांडो के साथ अफगानिस्तान से स्वदेश लौटे तीन खोजी कुत्ते रूबी, माया और बॉबी को जल्द ही छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान यूनिट में तैनात किया जाएगा। रूबी (बेल्जियम मालिनोइस ब्रीड की फीमेल), माया (फीमेल लेब्राडोर) और बॉबी (मेल डॉबरमैन) हैं। इन तीनों को अभी दिल्ली में छावला में आईटीबीपी के कैंप में रखा गया है।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ये तीनों करीब तीन साल से भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) कमांडो टुकड़ी के साथ थे। इस टुकड़ी के जिम्मे अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में भारतीय दूतावास और इसके राजनयिक स्टाफ की सुरक्षा की जिम्मेदारी थी।
उन्होंने बताया कि इन तीनों ने कई बार आईईडी का पता लगाया और न केवल भारतीय राजनयिकों बल्कि दूतावास में कार्य करने वाले स्थानीय अफगानी नागरिकों की भी जान बचाई।
इन तीनों को जल्द ही छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान में लगी आईटीबीपी यूनिटों में तैनात किया जाएगा। इन सभी को विदेश में ड्यूटी पर भेजने से पहले चंडीगढ़ के नजदीक भानू में आईटीबीपी नेशनल ट्रेनिंग सेंटर फॉर डॉग्स में प्रशिक्षित किया गया।
ये तीनों कुत्ते काबुल स्थित हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से वायुसेना के विमान से लाए गए 150 सदस्यों के दल में शामिल थे। इसमें 99 आईटीबीपी कमांडो भी शामिल हैं।
भारत ने अफगानिस्तान में अपने दूतावास, वाणिज्य कार्यालयों और राजनयिकों की सुरक्षा के लिए 300 से अधिक आईटीबीपी कमांडो को तैनात किया था। भारत ने नवंबर 2002 में अपने नागरिकों और काबुल दूतावास की सुरक्षा के लिए इनकी तैनाती की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *