- छत्तीसगढ़

श्री अग्रवाल विचारों को जीने वाले व्यक्ति हैं उनका सानिध्य हमें बरगद की छांव का एहसास कराता है – भूपेश बघेल

रायपुर 20 अगस्त 2019/ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज देर शाम जिला मुख्यालय राजनांदगांव के पद्मश्री गोविंदराम निर्मलकर ऑडिटोरियम में आयोजित स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल के जन्मशताब्दी समारोह में शामिल होकर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। यह समारोह स्वतंत्रता सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल के श्जीवन मूल्यों और आदर्शों की एक सदी्य पर केन्द्रित था। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल का 100वां जन्म दिवस है।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस अवसर पर अपने सारगर्भित उद्बोधन में कहा कि स्वतंत्रता सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल एक तपस्वी व्यक्ति हैं, जिन्होंने केवल समाज को देने का कार्य किया है। उनके सानिध्य में हमें महसूस होता है कि हम बरगद की छांव में बैंठे हैं। श्री अग्रवाल स्वतंत्रता संग्राम से लेकर समाज सुधार, मजदूरों की लड़ाई, गांधीवादी आंदोलन, साम्यवादी आंदोलन, जंगल सत्याग्रह के साथ और कितनी घटनाओं के गवाह है। आजादी के पहले समाज सुधारक के रूप में उन्होंने विधवा पुनर्विवाह अपने घर-परिवार से ही शुरू किया। श्री कन्हैयालाल अग्रवाल विचारों को जीने वाले व्यक्ति हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका उद्देश्य पूर्ण एवं संघर्ष पूर्ण 99 वर्ष का जीवन बहुत कठिन है। श्री कन्हैयालाल अग्रवाल से मिलने और बात करने से जीवन के प्रति उनका उत्साह साफ दिखाई देता है। सामाजिक सरोकारों के कारण इस उम्र में भी उनका उत्साह लोगों को प्रेरणा देने का काम करता है। मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल की दीर्घायु की कामना करते हुए कहा कि समाज में व्याप्त कुरीतियों का सामना करने की प्रेरणा उनसे मिलती रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज 100वें जन्म दिन पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल का सम्मान कर हमें गर्व हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनांदगांव जिला सांस्कृतिक, साहित्यिक और राजनीतिक पुनर्जागरण,  किसान आंदोलन और मजदूर आंदोलन का गवाह है। वैचारिक दृष्टि से राजनांदगांव जिला समृद्धशाली है। राजनांदगांव जिला ख्यातिनाम विचारकों की जन्म स्थली और कर्म स्थली है। श्री बघेल ने इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी सरदार भगत सिंह के जीवन आदर्शों की चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि सरदार भगत सिंह ने मात्र 23 वर्ष की उम्र में ही लोगों को समाज और देश के लिए जीवन त्यागने का आदर्श प्रस्तुत किया। सरदार भगत सिंह की जीवनी पढने से उनके देश प्रेम की भावना के बारे में जानकारी मिलती है।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की जयंती पर प्रदेश में जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि स्वर्गीय श्री राजीव गांधी ने देश को आधुनिक युग में ले जाने के लिए कार्य किया। युवा प्रधानमंत्री के रूप में स्वर्गीय श्री राजीव गांधी ने पंचायती राज व्यवस्था, ई-प्रशासन, कम्प्यूटर और सूचना क्रांति तथा युवाओं को 18 साल की उम्र में मतदान का अधिकार देने जैसे ऐतिहासिक कार्य किए हैं।

राजनांदगांव नगर निगम के महापौर श्री मधुसूदन यादव ने अपने उद्बोधन में कहा कि श्री कन्हैयालाल अग्रवाल के जीवन से हमें सार्थक और समाज विकास के लिए कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। उन्होंने इस अवसर पर नगर वासियों की ओर से श्री कन्हैयालाल अग्रवाल का अभिनंदन करते हुए उनके दीर्घायु जीवन की कामना की।महापौर ने कहा कि श्री कन्हैयालाल अग्रवाल दृढ़ इच्छा शक्ति के व्यक्ति हैं। वे हमेशा शिक्षा के लिए चिंतित रहते हैं। श्री कन्हैयालाल अग्रवाल के रूप में आदर्श व्यक्ति का उदाहरण हमारे सामने है। हमारा सौभाग्य है कि उनके सानिध्य में राजनांदगांव को आगे बढ़ाने का अवसर मिला। श्री यादव ने इस अवसर पर राजनांदगांव जिले के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, साहित्यकारों और महानविभूतियों को भी याद किया।

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल जन्म शताब्दी समारोह समिति के अध्यक्ष श्री दामोदर दास मुंदड़ा ने अपने स्वागत भाषण में सबसे पहले मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा अभी तक के कार्यकाल में किसानों और मजदूरों के हित में किए गए कार्यों की सराहना की। श्री मुंदड़ा ने उम्मीद जाहिर करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार की ग्राम सुराज की नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना से भविष्य में किसानों के जीवन में खुशहाली आएगी। किसानों की मेहनत को सार्थक बनाने का कार्य प्रदेश सरकार ने किया है। श्री मुंदड़ा ने कहा कि व्यक्ति में जीने  की चाहत हो तो उम्र के रूप में नियति की रूकावट भी बाधा नहीं बन सकती। उन्होंने श्री कन्हैयालाल अग्रवाल के जीवन को आदर्श बताते हुए कहा कि हम सब को उनसे सीख लेनी चाहिए।

समारोह में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने समिति की ओर से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल को अभिनंदन पत्र भेंट किया। पद्मश्री डॉ. पुखराज बाफना ने अभिनंदन पत्र का वाचन करते हुए श्री कन्हैयालाल अग्रवाल के जीवन भर की उपलब्धियों की चर्चा की।

समारोह में मुख्यमंत्री श्री बघेल और महापौर श्री यादव ने स्वतंत्रता सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल और पद्मश्री श्री गोविंदराम निर्मलकर की पत्नी श्रीमती दुलारी बाई का शॉल श्रीफल भेंट कर सम्मान किया। समारोह में स्वच्छता दीदी जागेश्वरी बाई और प्रेमा शंकर ने स्वच्छता दीदियों का मानदेय एक हजार रूपए बढ़ाने पर मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया।

समारोह में विधायक श्री दलेश्वर साहू, श्रीमती छन्नी साहू, श्री भुनेश्वर बघेल, पूर्व विधायक श्री भोलाराम साहू, श्री गिरवर जंघेल, दैनिक देशबंधु के प्रधान संपादक श्री ललित सुरजन, श्री चिंतरंजन बख्शी, दैनिक सबेरा संकेत के प्रधान संपादक श्री सुशील कोठारी, वरिष्ठ पत्रकार श्री सुदीप ठाकुर सहित श्री शरद अग्रवाल, श्री नलित श्रीवास्तव, श्री संजय छाजेड़, श्री इंद्रचंद कोठारी, श्री शरद खंडेलवाल सहित स्वतंत्रता सेनानी श्री कन्हैयालाल अग्रवाल के परिजन और समिति के सदस्य उपस्थित थे।

About buland khabar

Read All Posts By buland khabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *