- छत्तीसगढ़, मुख्य समाचार, राज्य

अल्पकालीन कृषि ऋण माफी योजना का शुभारंभ

रायपुर, 29 जनवरी 2019/ छत्तीसगढ़ की राजधानी नया रायपुर स्थित राज्योत्सव मैदान में आयोजित किसान आभार सम्मेलन तथा कृषि ऋण मुक्ति कार्यक्रम में सासंद श्री राहुल गांधी द्वारा मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, मंत्रिमंडल के सदस्यों और जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरण कर शुभारंभ किया। श्री राहुल गांधी ने 18 किसानों को ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरण और धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से भुगतान करने के संबंध में दस किसानों को प्रमाण पत्र भी प्रदान किया।

राज्य शासन द्वारा प्रदेश के किसानों के 30 नवम्बर 2018 पर बकाया अल्पकालीन कृषि ऋण माफी के निर्णय का क्रियान्वयन नई सरकार के गठन के तत्काल बाद प्रारंभ कर दिया गया। राज्य शासन के निर्देश पर ऋण माफी योजना के प्रथम चरण में एक नवम्बर 2018 से 24 दिसम्बर 2018 तक लिंकिंग के माध्यम से तीन लाख 57 हजार किसानों से वसूल की गई 1248 करोड़ रूपए के अल्पकालीन ऋण की राशि सर्वप्रथम किसानों के बचत खातों में वापस करने का कार्य 31 दिसम्बर 2018 तक पूर्ण कर लिया गया है। राज्य शासन के ऋण माफी योजना के अंतर्गत 16.81 लाख किसानों के 6230 करोड़ रूपए के ऋण माफी करने की शुरूआत 28 जनवरी 2019 को प्रदेश में की गई। प्रदेश में की जा रही ऋण माफी में सहकारी बैंकों के 15 लाख खातों में 30 नवम्बर 2018 तक बकाया 5170 करोड़ रूपए के अल्पकालीन कृषि ऋण माफ किए जा रहे हैं। ऋण माफी योजना के अंतर्गत बैंकों के ऋण माफी दावों का ऑडिट सहकारिता विभाग के अंकेक्षकों द्वारा कराया जा रहा है। उसके बाद ऋण माफी की राशि स्वीकृत की जा रही है।

समारोह में जिला सहकारी बैंक रायपुर के कार्य क्षेत्र में आने वाले राजस्व जिला रायपुर की प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति अभनपुर, केन्द्री, पचेडा, सिवनी एवं गौरभाट के   जिन किसानों को खरीफ वर्ष 2018-19 ऋण माफी प्रमाण पत्र का वितरण किया गया, उनमें अभनपुर समिति के ग्राम चण्डी के किसान फगुवा राम को एक लाख 20 हजार 899 रूपए, ग्राम बेलर के श्री भोजराम को 45 हजार 701 रूपए और श्री हरिराम को एक लाख 52 हजार 901, समिति एवं ग्राम पचेडा के किसान श्री चन्द्रशेखर को दो लाख 66 हजार 178 रूपए, ग्राम गिरोला श्रीमती रीना बाई को 16 हजार 202 रूपए, ग्राम तान्दुल के श्री रमेश सिंह को 66 हजार 258 रूपए, समिति एवं ग्राम केन्द्री के श्री नेतराम को 36 हजार 351 रूपए, श्रीमती रामबाई को 77 हजार 046 रूपए, ग्राम बकतरा के श्री श्यामलाल को 37 हजार 168 रूपए, ग्राम निमोरा के श्री माखन को एक लाख दो हजार 936 रूपए, ग्राम बकतरा के श्री राजकुमार को 73 हजार 633 रूपए, समिति एवं ग्राम शिवनी के श्री नंदकुमार को 62 हजार 449 रूपए, श्रीमती किताव बाई को 17 हजार 567 रूपए, ग्राम सिंगारभाठा के श्री विकास कुमार को 69 हजार 616 रूपए, श्रीमती अनिता को 60 हजार 108 रूपए, समिति एवं ग्राम गौरभाट के श्री भागवत को तीन लाख 22 हजार 318 रूपए, श्री हरिशंकर को एक लाख 54 हजार 647 रूपए और ग्राम पांहदा की श्रीमती पांचो बाई को एक लाख तीन हजार 845 रूपए की ऋण माफी का प्रमाण पत्र वितरित किया। सभी पात्र किसानों की ऋण माफी की पूरी प्रक्रिया 31 मार्च 2019 के पूर्व पूरी कर ली जाएगी।

समारोह में ऋण माफी योजना के तहत इस वर्ष नई सरकार द्वारा किसानों को धान की उपज का मूल्य 2500 रूपए प्रति क्विंटल किए जाने के निर्णय के परिणाम स्वरूप कृषकों में अत्याधिक उत्साह, हर्ष एवं उल्लास व्याप्त है। किसानों के इसी उत्साह का परिणाम है कि 25 जनवरी 2019 तक कुल 15 लाख 18 हजार किसानों द्वारा 76.53 लाख टन धान का विक्रय उपार्जन केन्द्रों में किया गया है। इन किसानों को 15.686 करोड़ रूपए का भुगतान सीधे उनके बैंक खातों में कर दिया गया है। धान उपार्जन के प्रारंभ से मोटे धान के लिए 2050 रूपए और पतला धान के लिए 2070 रूपए प्रति क्विंटल का भुगतान किसानों को किया जा रहा था। शासन द्वारा 2050 प्रति क्विंटल धान की राशि भुगतान किए जाने के निर्णय से अब किसानों को धान का मूल्य 2500 रूपए प्रति क्ंिवटल की दर से प्राप्त होने लगा है। पूर्व में किए गए भुगतान एवं बढ़े हुए मूल्य के अंतर की राशि 3060 करोड़ रूपए का भुगतान प्रारंभ किया गया। छत्तीसगढ़ राज्य में पूर्णतः कम्प्यूटरीकृत व्यवस्था से किसानों का धान उपार्जन किया जा रहा है। किसानों को धान की राशि का भुगतान डिजिटल माध्यम से उनके बचत बैंक खातों में किया जाता है। अब तक भुगतान की गई राशि 3060 करोड़ रूपए किसानों के बचत खातों में सीधे जमा होगी।

इसी प्रकार धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से भुगतान करने के संबंध में जिन दस किसानों को प्रमाण पत्र प्रदान किया गया, उनमें तहसील आरंग के ग्राम पांहदा की श्रीमती खोरबाहरीन साहू को एक लाख 58 हजार 928 रूपए, ग्राम गौरभाट के श्री भागवत को एक लाख 47 हजार 424 रूपए, श्री मनहरण को 81 हजार 360 रूपए, श्री बीरसिंग साहू को 26 हजार 640 रूपए, श्री तिरिथराम निषाद को 21 हजार 960 रूपए, श्री सुरेश कुमार को 13 हजार 588 रूपए, श्री हरिशंकर चन्द्राकर को 13 हजार 320 रूपए, श्री कोदूराम साहू को 10 हजार 620 रूपए, श्री विनोद कुमार को छह हजार 120 रूपए और  इसी विकासखण्ड के ग्राम कुम्हारी के श्री गणपत देवांगन को 24 हजार 840 रूपए की अंतर राशि के भुगतान का प्रमाण पत्र प्रदान किया।

About buland khabar

Read All Posts By buland khabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *