- राज्य

पत्नी सहित दो मासूम बच्चियों पर जानलेवा हमला कर पति ने लगायी खुद को फांसी

कांकेर (bulandkhabar)। पति ने पत्नी सहित दो मासूम बच्चियों पर जानलेवा हमला कर दिया। जिसके बाद मां और बच्चियां खून से लतपत हालत में मोहल्ले के लोगों से मदद की गुहार लगाती रही। इधर हमलावर पति वारदात को अंजाम देने के बाद घर पर ही पहले जहर सेवन किया। फिर फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। अंतागढ़ थाना क्षेत्र का यह पूरा मामला है। विवाद का कारण अभी अज्ञात है। अंतागढ़ पुलिस मामले की जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि पति-पत्नी का विवाद चल रहा था इसी बीच सील पत्थर से पति ने पत्नी के सिर पर वार कर दिया। जिसे देख बीच बचाव करने में लगी बच्चियों पर भी पिता ने वार कर घायल कर दिया। मृतक का नाम रविदास मानिकपुरी है। इधर गंभीर रूप से घायल मृतक की पत्नी सहित दो बच्चियों का इलाज अंतागढ़ अस्पताल में जारी है। हालत गंभीर देख उन्हें जिला अस्पताल रिफर किया गया है। रविदास मानिकपुरी निवासी वार्ड क्रमांक 7 नयापारा अपनी पत्नी मधुबाला मानिकपुरी के साथ किसी बात को लेकर विवाद हो गया। नौबत मारपीट की आ गयी। विवाद की आवाज सुन घर के कमरे में सोए तीन बच्चों में से दो बच्चियां यासीका मानिकपुरी (7) और स्नेहा मानिकपुरी (12) जाग गई और माता-पिता के बीच हो रहे झगड़े में बीच बचाव करने लगी। इसी बीच गुस्साए रवि मानिकपुरी ने घर पर रखे सील पत्थर से अपनी पत्नी मधुबाला के सिर पर हमला कर दिया. जिसके बाद बच्ची स्नेहा और यासीका के भी सिर पर आवेश में पिता ने हमला कर दिया। जिसके बाद वे अपनी मां के साथ खून से लतपत हालत में मदद के लिए पुकारते घर से बाहर निकल गई। जहां मोहल्ले के लोगों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया। इधर रवि मानिकपुरी ने खुद को घर में बंद कर लिया। रविदास मानिकपुरी का घर भैंसासुर क्षेत्र में भी है जहां उनका भाई छबीदास मानिकपुरी उसकी पत्नी और माता-पिता रहते हंै जिनको सुबह झगड़ा लड़ाई रवि की ओर से किए जाने की जानकारी फोन से दी गई। इस संबंध में मृतक के भाई छबिदास मानिकपुरी ने बताया कि भैया और भाभी के बीच रात में हुए झगड़े की खबर सुबह मिली जिसके बाद वे भंैसासुर से अंतागढ़ पहुंचे। घर पहुंचने पर सामने पीछे का दरवाजा अंदर से बंद था रवि को आवाज लगाई पर उन्होंने दरवाजा नहीं खोला। खिड़की से झांक कर देखे तो भैया पलंग पर सोए थे। पुकारने पर बस हां करके उनका जवाब मिला जिसके बाद हम भैया तो सो रहे है ये देख अंतागढ़ अस्पताल भाभी और बच्चियों को देखने मां के साथ पहुंचे जिसके कुछ समय बाद हम जब वापस घर रवि को जगाने पहुंचे तो वह पलंग पर नहीं था सामान के गिरने और छटपटाने की आवाजें कमरे से आ रही थी। आस पास के लोगों को बुलाकर लाया जिसके बाद उनकी मदद से आरी लाकर घर का ताला काट दरवाजा खोला तो देखा रविदास मानिकपुरी का फंदे में शव लटका दिखाई दिया। घर के वेंटीलेटर से रस्सी का फंदा बांध फांसी लगा ली थी, छबीदास ने बताया कि भैया और भाभी के बीच झगड़े तो कभी-कभी होते थे पर इस तरह से कुछ हो जाएगा ये कभी नहीं सोचा था। झगड़ा किस बात को लेकर हुआ यह समझ नहीं आ रहा है। इधर अंतागढ़ पुलिस मौके पर पहुंच शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। घर के भीतर सामान बिखरा पड़ा था। इधर सील पत्थर और घर के फर्स पर खून बिखरा मिला है। झगड़े के पीछे का क्या कारण रहा होगा कि नौबत जान लेने देने की आ गई इस बात पर जांच जारी है। पति-पत्नी के बीच के झगड़े और फिर पति के खुदकुशी किए जाने के मामले पर तरह-तरह की चर्चा दिनभर लोगों के बीच होती रही।

About buland khabar

Read All Posts By buland khabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *